अंधेरा

इस्लाम के खिलाफ ज़हर उगलने वाला हिन्दू पंडित बन गया कुरआन का मुरीद

MEDIA TODAY TV
सदस्यता लें
दृश्य 1 804 638
91% 20 599 1 868

इस्लाम के खिलाफ ज़हर उगलने वाला हिन्दू पंडित बन गया कुरआन का मुरीद
आचार्य जो इस्लाम धर्म से नफरत करते थे लेकिन इस्लाम को जानने के बाद कुरआन के मुरीद हो गए

 

30/09/2018

kanhaiya kumar speech on modiasauddin owaisi speech on bjp rssakbaruddin owaisi on Modiazam khan on yogi adityanthakhilesh yadav on up cmimran pratapgarhi latest nazmshahla rashidjignesh mewaniimam bukhariup madrasanajib ahmedswami laxmi shankar acharyelatest speech of swami laxmi shankar aacharye on islambook of swami laxmi shankar on islamthaught of swami on islamswami on kuraan

शेयर करें:

शेयर करें:

वीडियो डाउनलोड करें:

लिंक लोड हो रहा है.....

में जोड़े:

मेरी संगीतसूची
बाद में देखना
टिप्पणियाँ 1 535
Alam Nur
Alam Nur 11 दिन पहले
Masha Allah Allah apko hidayet ata farmayen amin
sahil khan
sahil khan 15 दिन पहले
Bhut achhe swami g....
Boby Kumar
Boby Kumar 23 दिन पहले
😂😂😂😂😂😂
Hajrat Ali
Hajrat Ali 25 दिन पहले
Wah baba ji sach bolne aur Quran ko samajhne ke liye Aapko mubarak ho,,, Ye kattar panthiyon ke munh pe jordar tamancha hai, jo Islam ko badnam karte hai.
Souniel Smith
Souniel Smith महीने पहले
ये सब नाली से पैदा होते हैं इन्हें सब अपने बाप लगते है book publish करने के लिए मां चुदा लो
Bilal Ahmad
Bilal Ahmad महीने पहले
Masaallha
Bilal Ahmad
Bilal Ahmad महीने पहले
Super video
ARJUN SHARMA
ARJUN SHARMA 2 महीने पहले
Teri maa ki choot bhosdi pandit sala
prtap singh ah
prtap singh ah 2 महीने पहले
Pandit ji you r rigt
SANJAY KUMAR SINGH
SANJAY KUMAR SINGH 2 महीने पहले
जो व्यक्ति ईश्वर कृत और मनुष्य कृत मजहबों के बीच फर्क ना कर सके और मात्र किसी संप्रदाय विशेष को खुश करने के लिए ही बातें करे वह अज्ञानी और पाखंडी है। इस्लाम कोई धर्म नहीं वरन एक राजनीतिक सम्प्रदाय मात्र है जिसका उद्देश्य उस संप्रदाय का बल पूर्वक विस्तार है। इन सब बातों का आध्यात्म से दूर का भी रिश्ता नहीं है। फिर भी विस्तार के इस फासीवादी राजनितिक महत्वाकांछा को धर्म के छ्द्म आवरण में लपेटा गया है और आज यह पूरे विश्व के लिए एक खतरा बन गया है। आध्यात्म बहुत ऊँची चीज है और किसी पर जबरन थोपने की वास्तु नहीं है । यह स्थिति कई स्तरों पर क्रमिक विकास से आती है। इसकी पहली सीढ़ी जीवन के मूलभूत मूल्यों - सत्य, प्रेम, दया, करुणा, सेवा, भाईचारा आदि के पहचान और क्रियान्वयन से शरू होता है। वास्तव में मुसलमानो को धर्म से कहीं ज्यादा इन्ही मूलभूत मूल्यों को पहचानने और अपनाने की आवशयकता है धर्म तो बहुत दूर की बात है। पांच बार नमाज पढ़ने और शोर मचाने मात्र से कोई धार्मिक नहीं हो जाता है । यह तो केवल पाखंड मात्र है। वास्तविक प्रार्थना दिखावे के लिए नहीं वरन ह्रदय में शांतिपूर्वक की जाती है। इस्लाम की सारी बाते परस्पर विरोधी (PARADOXICAL) है - सब्दो का अर्थ कुछ होता है और अमल में होता कुछ और ही है। अतः इसकी बातो को कभी भी उसके FACE VALUE पर नहीं लेना चाहिए। इस सत्य को कोई भी व्यक्ति कुरान मजीद या अन्य मुस्लिम ग्रंथो को पढ़ कर और उसके वास्तविक अमल को ध्यान में रख कर भली भातिं जाँच परख सकता है। उदाहरण के लिए एक अल्लाह के आगे नतमस्तक होकर जो शांति प्राप्त की जाती है वह इस्लाम है। और हर वो व्यक्ति जो बिना किसी शर्त के अल्लाह के आगे नतमस्तक हो जाता है और (unconditionally) उसे follow करता है वह मुस्लिम है। ऊपरी तौर पर ये बातें उच्च कोटि की और सत्य मालूम पड़ती हैं परन्तु इनका इस्लाम में वास्तविक अर्थ और व्यवहार कुछ और ही होता है। वास्तव में ये अवधारणायें वेदों से चराई गयी हैं जिसका वैदिक अर्थ यह है कि चाहे ईश्वर को पाने का तरीका अलग अलग ही क्यों ना हो ईश्वर तो एक ही है। उसे ध्यान में अपने ह्रदय में खोजो, नतमस्तक हो जाओ और उसके आनंद में डूब जाओ। परन्तु इस्लाम द्वारा इस वेद वाक्य का क्रियान्वयन इस अर्थ में होता है की अन्य सभी धर्मो का वहिष्कार करो क्यों कि अल्लाह का धर्म केवल एक ही है - "इस्लाम"। फिर अल्लाह के आगे बिना शर्त नतमस्तक वही हो सकता है जिसने पहले अपने विवेक और तर्क की कसौटी पर उसके सत्य और असत्य की परख भली भाँति कर लिया हो । परन्तु इस्लाम इस प्रकार की जाँच की अनुमति नहीं देता और बिना कोई प्रश्न उठाये अंध श्रद्धा करने की बात करता है। इस्लाम में जो इन बातो पर प्रश्न करेगा वो मुस्लिम नहीं माना जायेगा इस बात का स्पस्ट आदेश है। इस प्रकार इस्लाम में बिना शर्त नतमस्तक होने का वास्तविक अर्थ अंध श्रध्दा करना है जो कि बिलकुल अलग और निन्म कोटि की बात है। इस प्रकार जिहाद ईस्लाम का महत्वपूर्ण अंग है और इसके बिना इस्लाम की कल्पना भी नहीं की जा सकती। जिहाद का शाब्दिक अर्थ होता है सत्य की स्थापना के लिए असत्य से युद्ध करना। परन्तु यह दिखावटी अर्थ है ? वास्तव में इस्लाम स्वयं को अन्य सभी धर्मो से श्रेष्ठ मानता है और दसरो से नफरत करता और उन्हें काफिर कहता है। परन्तु ऐसा मानना इस्लामिक फासिज़्म का एक और पुख्ता प्रमाण है क्यों कि इस मान्यता के पीछे कोई भी वास्तविक तर्क, कारण, आधार, सिद्धांत, या लॉजिक नहीं है और केवल मान लेने या कहने मात्र से यह कथन सिद्ध नहीं हो जाता। इसी सिद्धांत के तहत ईस्लाम सारी दुनियाँ को मुस्लिम (DAR -E-ISLAM) और गैर मुस्लिम (DAR-E-HARAB) के रूप मे देखता है और यह आदेश देता है की जिहाद करो यानि बाकी सभी धर्मो को समाप्त करो इसके लिए चाहे कितना ही गन्दा काम या अत्याचार ही क्यों ना करना पड़े। काफिर एक झूठा और अपमान सूचक शब्द है जो सभी गैर मुस्लिम धर्मो के लिए प्रयोग किया जाता है। इस प्रकार बड़े बड़े शब्दों के मुखौटे में जिसके अर्थ श्रेष्ठ होते हैं , यह अपने वास्तविक मंशा अर्थात "जिहाद "को छुपाये अपना प्रचार प्रसार करता है। और जब यह जिहाद की बात करता है तो इसके सभी अन्य आध्यात्मिक बातों का महत्त्व भी समाप्त हो जाता है ।
Sabir Bhati
Sabir Bhati 2 महीने पहले
Upar photo kisi or ka or andar pandit koi aur
Inayathulla Salman
Inayathulla Salman 2 महीने पहले
🍞🌰🥜🍄🥦🥒🌶🌽🥕🥔🍆🥑🥝🥥🍅🍓🍒🍑🍐🍏🍎🍍🍌🍋🍊🍉🍈🍇🏨🏦🏥🏤🏣🏢🏡🏠🏚🏙🏘🏗🏛🏟🏞🏝🏜🏖🏕🗻🌋⛰🏔🗺🌐🌏🌎🌍🛷🏂🏂⛷🎿🎽🎣⛸🏌️‍♀️🏌️‍♂️⛳🎿🥅🥋🥊🏸🏓🏒🏑🏏🎳🎱🎾🏉🏈🏐🏀⚾️⚽️
Ashok Singh
Ashok Singh 2 महीने पहले
Mather chod saala goru ka maans kha liya Kya?
Ashok Singh
Ashok Singh 2 महीने पहले
A saala Hindu pandit ho hi nahi sakta a to dogla pandit hai
Salman Srk
Salman Srk 2 महीने पहले
Sachai Jane uske bad faisla kare.bahut khub .
Shahrukh Ahmad
Shahrukh Ahmad 2 महीने पहले
Inversa truth
S N.n
S N.n 2 महीने पहले
Masha Allah
Sumbha Singh
Sumbha Singh 2 महीने पहले
बुलंद इस्लाम काफिरों में कोहराम
Kirti Agarwal
Kirti Agarwal 2 महीने पहले
जो नूर की झील में नहाना चाहता है उसे हिन्दू मुस्लिम से ऊपर उठना पड़ेगा
Shahban ali Ali
Shahban ali Ali 2 महीने पहले
Je huzur
Gary Amalan
Gary Amalan 2 महीने पहले
4:39 insaan me insaaniyat laane ka naam Islam hai --- Pandit ji's conclusion
Creative Kida
Creative Kida 2 महीने पहले
Sale challenge krta hu agr kuran achhi nikali to...kuran main 1000 ayate hai..hinsa hai..jihad sikhate hai.. paiso ke liye ye sale dalle Kuch bhi krte hai..
Discovery and adventure channel
Discovery and adventure channel 2 महीने पहले
aapne bilkul sahi kaha ki galati anuvaad karne waale ki thi. kyuki aapne jinka anuvaad padha wo badaqeeda logo ka anuvaad hai.. anuvaad padhna hai to baraily ke Aala Hazrat Imam Ahmad raza Khan rahmatullahi Alaih ka anuvaad padhiye. khuda ki kasam aapka view aur bhi nikhar jayega.
Aliraj Aliraj
Aliraj Aliraj 2 महीने पहले
Very nais takrir
Sameer khan
Sameer khan 2 महीने पहले
jai hind pandat ji
Same Tarkhesha
Same Tarkhesha 2 महीने पहले
The Great Islaam Thanks Pandit ji👍👌💐
Creative Kida
Creative Kida 2 महीने पहले
Sry jbtk sare Muslim nhi smj lete ..q ki Jo glt krte hai wo bhi Muslim hi hai..pr un moulavi ke khilaf kitne apke logo ne awaj uthaya. Hindu ne to phle se hi Muslim ko apnaya tha pr jha Muslim Jada hote wha aek hindu pr atyachar q hota hai..aise bahut se incident dikha jayenge ..suruwat tuhmare log hi krte hai..shayd wo unpd honge pr hote to Muslim hai..tum log bhi uhne smjate nhi uhne khilaf awaj uthate nhi..dost
imlaq Ahmad kohi
imlaq Ahmad kohi 2 महीने पहले
Well said Honorable Swami Laxmi Sankracharya. You are right to say, that Muslims need to follow their religion properly. Sir, you have the capacity to Unite whole Indian Sub Continent. Long live Swami Laxmi Sankracharya. Very True Words. Satya Vachan. God Bless India. Jai Hind
Liaqat Ali
Liaqat Ali 2 महीने पहले
ماشاءاللہ
MAHEM SIDDIQUE
MAHEM SIDDIQUE 2 महीने पहले
mashallah
Mohammad Muzahid
Mohammad Muzahid 2 महीने पहले
इस्लाम धर्म उतना ही पुराना है जितना धरती पर स्वयं मानवजाति का इतिहास, संक्षिप्त में जानिए ‘इस्लाम’ क्या है? आमतौर पर यह समझा जाता है कि इस्लाम 1400 वर्ष पुराना धर्म है, और इसके ‘प्रवर्तक’ पैग़म्बर मुहम्मद (सल्ल॰) हैं। लेकिन वास्तव में इस्लाम 1400 वर्षों से काफ़ी पुराना धर्म है; उतना ही पुराना जितना धरती पर स्वयं मानवजाति का इतिहास और हज़रत मुहम्मद (सल्ल॰) इसके प्रवर्तक (Founder) नहीं, बल्कि इसके आह्वाहक हैं। आपका काम उसी चिरकालीन इस्लाम धर्म की ओर, जो सत्यधर्म के रूप में आदिकाल से ‘एक’ ही रहा है, लोगों को बुलाने, आमंत्रित करने और स्वीकार करने के आह्वान का था। आपका मिशन, इसी मौलिक मानव धर्म को इसकी पूर्णता के साथ स्थापित कर देना था ताकि मानवता के समक्ष इसका व्यावहारिक रूप साक्षात् रूप में आ जाए। इस्लाम का इतिहास जानने का अस्ल माध्यम स्वयं इस्लाम का मूल ग्रंथ ‘क़ुरआन’ है। और क़ुरआन, इस्लाम का आरंभ प्रथम मनुष्य ‘आदम’ से होने का ज़िक्र करता है। इस्लाम धर्म के अनुयायियों के लिए क़ुरआन ने ‘मुस्लिम’ शब्द का प्रयोग हज़रत इबराहीम (अलैहि॰) के लिए किया है जो लगभग 4000 वर्ष पूर्व एक महान पैग़म्बर (सन्देष्टा) हुए थे। हज़रत आदम (अलैहि॰) से शुरू होकर हज़रत मुहम्मद (सल्ल॰) तक हज़ारों वर्षों पर फैले हुए इस्लामी इतिहास में असंख्य ईशसंदेष्टा ईश्वर के संदेश के साथ, ईश्वर द्वारा विभिन्न युगों और विभिन्न क़ौमों में नियुक्त किए जाते रहे। उनमें से 26 के नाम कु़रआन में आए हैं और बाक़ी के नामों का वर्णन नहीं किया गया है। इस अतिदीर्घ श्रृंखला में हर ईशसंदेष्टा ने जिस सत्यधर्म का आह्वान दिया वह ‘इस्लाम’ ही था; भले ही उसके नाम विभिन्न भाषाओं में विभिन्न रहे हों।बोलियों और भाषाओं के विकास का इतिहास चूंकि क़ुरआन ने बयान नहीं किया है इसलिए ‘इस्लाम’ के नाम विभिन्न युगों में क्या-क्या थे, यह ज्ञात नहीं है। इस्लामी इतिहास के आदिकालीन होने की वास्तविकता समझने के लिए स्वयं ‘इस्लाम’ को समझ लेना आवश्यक है।
A. hk
A. hk 2 महीने पहले
Gjb
Mdanvar Alam
Mdanvar Alam 2 महीने पहले
Bahut khoob
Mdkamruddin Alam
Mdkamruddin Alam 2 महीने पहले
Masha Allah
Soul Personality Development by Good Will
Soul Personality Development by Good Will 2 महीने पहले
Sir ji talak me bare me book likhiye
Md Hasnain
Md Hasnain 2 महीने पहले
Masa allah
Sameer Saifi
Sameer Saifi 2 महीने पहले
Dharm bo hi jo insaniat sikhta ho or bo dharm islam hai
Nasim Ansari
Nasim Ansari 2 महीने पहले
You are Great pandit ji
Bhura Mustak
Bhura Mustak 2 महीने पहले
Bahut khoob
Ravinder Deep
Ravinder Deep 2 महीने पहले
Sab dharam principles ek hai.... kisi dharam ki kitab no padna nahi chahiye balki seekhna chahiye.... mere liye jitna respect sikh dharam k liye hai utna hi Kuran, geetha, bible ke liye hai... har dharam mein paigambr huye hain unhone shanti ke liye sacrifice kiye hain.... insan ka dharam ya jaat nahi sirf insan mein insan dekhna chahiye jisko kudrat ne banya hai..... kaash India mein sab ek ho kar rahe kabhi dharam ke naam par nafrat na ho....
Alam Uddin Laskar
Alam Uddin Laskar 2 महीने पहले
Islam ka alaba aur koy dharam nahi hea
Dhiraj Gupta
Dhiraj Gupta 2 महीने पहले
Kitana paisa liye ho baba islam ki tarif karne ki
Azam Khan
Azam Khan 2 महीने पहले
Masha allah subha nallah allaho akbar.
param pita
param pita 2 महीने पहले
सूरा अल-इख़लास - भगवान के गुण - कुरान शरीफ कुरान शरीफ - सूरा अल - इख़लास 112: 1 - 4 112:1 कहो: "वह अल्लाह यकता है, 112:2 अल्लाह निरपेक्ष (और सर्वाधार) है, 112:3 न वह जनिता है और न जन्य, 112:4 और न कोई उसका समकक्ष है" भगवान के गुणो का जो वर्णन कुरान शरीफ में सूरा अल-इख़लास में दिया है, वहकबीर परमात्मा पे पूर्ण रूप से लागू होता है,
param pita
param pita 2 महीने पहले
सुर फुरकान25आयत58में लिखा है कि अल्लाह ने पूरी काइनात 6दिन में बनाया और7वे दिन तख्त पर जा विराजा। स्पष्ट है कि अल्लाह साकार है परंतु आश्चर्य है कि लगभग सभी मुसलमान निराकार यानी कुरान के खिलाफ बताते हैं।
Uzma Abid
Uzma Abid 2 महीने पहले
Islam is the religion of peace of mind and soul
Ramesh Chaurasia
Ramesh Chaurasia 2 महीने पहले
Swamji ek book on "condition & right's of minorities in Islamic nation" pe bhi likho.
Bshsh Hshshs
Bshsh Hshshs 2 महीने पहले
Dunia me doo hi INSAN aye unisa dunia me atne Insan fayla HAM SAB EK DUSRA ke. RISTEDAR .ham sabko milker pairsa RAHNA. CHAHIA
Jakir Uddin
Jakir Uddin 2 महीने पहले
Masha Allah
Riya Tyaghi
Riya Tyaghi 2 महीने पहले
Islam zindabad
Shadab bhai Gym wale
Shadab bhai Gym wale 2 महीने पहले
masaallah ye mulk hamara hai hame is mulk ki hifazat karni hai aur bhai chara ka pagam dena hai mohabbat falani hai Allah ayse sabko hidayat de aur mazhabe islam Ko samajhne ki taofik de ameen
Abdulkadir Abdulkadir
Abdulkadir Abdulkadir 2 महीने पहले
babaji ap agur muslim hogiyatu amin
Laiba Noor
Laiba Noor 2 महीने पहले
Disha Islam saccha din hai Allah tala aap ko bulane ki aur sahi baat karne ki taufeeq ata farmaye ameen
Mehul Modhavadia
Mehul Modhavadia 2 महीने पहले
Isalam me atak vad nahi he to aj tak kisike ne atakvadio ke viruth fatava kuyu nahi nikala or attak vad or des drohi baya dene vale sabhi mollana musalman nahi he . To koy he allah ka isalam janevala ya sab mollo ka isalam valehi he desh drohi attakvadi nikalo is ke viridh fethava lane vala
Alfisha Khan
Alfisha Khan 2 महीने पहले
Who notice maulana faiz frm aurangabad in crowd
Alfisha Khan
Alfisha Khan 2 महीने पहले
Very nice I respect u dat u accepted ur mistake it's a big thing.
Ashutosh singh Chauhan
Ashutosh singh Chauhan 2 महीने पहले
इस्लाम की क्रूरता और वासना भरी सच्चाई ये बातें जो यहाँ लिखी है पहले इसको ध्यान से पढ़ें और फिर सोचें की क्या इसका पालन करने वाला कोई भी मुसलमान आपका दोस्त हो सकता है .. और दुख की बात ये है की हर मुसलमान इन सब को मान ने वाला ही होता है क्यूँ की ये बातें उनके क़ुरान में लिखी है जिसको मान ना ही सच्चे मुसलमान की पहचान है और जन्नत जाने का रास्ता भी 1 -गैर मुसलमानों पर रौब डालो ,और उनके सर काट डालो . काफिरों पर हमेशा रौब डालते रहो .और मौक़ा मिलकर सर काट दो .सूरा अनफाल -8 :112 2 -काफिरों को फिरौती लेकर छोड़ दो या क़त्ल कर दो . "अगर काफिरों से मुकाबला हो ,तो उनकी गर्दनें काट देना ,उन्हें बुरी तरह कुचल देना .फिर उनको बंधन में जकड लेना .यदि वह फिरौती दे दें तो उनपर अहसान दिखाना,ताकि वह फिर हथियार न उठा सकें .सूरा मुहम्मद -47 :14 3 -गैर मुसलमानों को घात लगा कर धोखे से मार डालना . 'मुशरिक जहां भी मिलें ,उनको क़त्ल कर देना ,उनकी घात में चुप कर बैठे रहना .जब तक वह मुसलमान नहीं होते सूरा तौबा -9 :5 4 -हरदम लड़ाई की तयारी में लगे रहो . "तुम हमेशा अपनी संख्या और ताकत इकट्ठी करते रहो.ताकि लोग तुमसे भयभीत रहें .जिनके बारेमे तुम नहीं जानते समझ लो वह भी तुम्हारे दुश्मन ही हैं .अलाह की राह में तुम जो भी खर्च करोगे उसका बदला जरुर मिलेगा .सूरा अन फाल-8 :60 5 -लूट का माल हलाल समझ कर खाओ . "तुम्हें जो भी लूट में माले -गनीमत मिले उसे हलाल समझ कर खाओ ,और अपने परिवार को खिलाओ .सूरा अन फाल-8 :69 6 -छोटी बच्ची से भी शादी कर लो . "अगर तुम्हें कोई ऎसी स्त्री नहीं मिले जो मासिक से निवृत्त हो चुकी हो ,तो ऎसी बालिका से शादी कर लो जो अभी छोटी हो और अबतक रजस्वला नही हो .सूरा अत तलाक -65 :4 7 -जो भी औरत कब्जे में आये उससे सम्भोग कर लो. "जो लौंडी तुम्हारे कब्जे या हिस्से में आये उस से सम्भोग कर लो.यह तुम्हारे लिए वैध है.जिनको तुमने माल देकर खरीदा है ,उनके साथ जीवन का आनंद उठाओ.इस से तुम पर कोई गुनाह नहीं होगा .सूरा अन निसा -4 :3 और 4 :24 8 -जिसको अपनी माँ मानते हो ,उस से भी शादी कर लो . "इनको तुम अपनी माँ मानते हो ,उन से भी शादी कर सकते हो .मान तो वह हैं जिन्होंने तुम्हें जन्म दिया .सूरा अल मुजादिला 58 :2 9 -पकड़ी गई ,लूटी गयीं मजबूर लौंडियाँ तुम्हारे लिए हलाल हैं . "हमने तुम्हारे लिए वह वह औरते -लौंडियाँ हलाल करदी हैं ,जिनको अलाह ने तुम्हें लूट में दिया हो .सूरा अल अह्जाब -33 :50 10 -बलात्कार की पीड़ित महिला पहले चार गवाह लाये . "यदि पीड़ित औरत अपने पक्ष में चार गवाह न ला सके तो वह अलाह की नजर में झूठ होगा .सूरा अन नूर -24 :१३ 11 -लूट में मिले माल में पांचवां हिस्सा मुहम्मद का होगा . "तुम्हें लूट में जो भी माले गनीमत मिले ,उसमे पांचवां हिस्सा रसूल का होगा .सूरा अन फाल- 8 :40 12 -इतनी लड़ाई करो कि दुनियामे सिर्फ इस्लाम ही बाकी रहे . "यहांतक लड़ते रहो ,जब तक दुनिया से सारे धर्मों का नामोनिशान मिट जाये .केवल अल्लाह का धर्म बाक़ी रहे.सूरा अन फाल-8 :39 13 -अवसर आने पर अपने वादे से मुकर जाओ . "मौक़ा पड़ने पर तुम अपना वादा तोड़ दो ,अगर तुमने अलाह की कसम तोड़ दी ,तो इसका प्रायश्चित यह है कि तुम किसी मोहताज को औसत दर्जे का साधारण सा खाना खिला दो .सूरा अल मायदा -5 :89 14 - इस्लाम छोड़ने की भारी सजा दी जायेगी . "यदि किसी ने इस्लाम लेने के बाद कुफ्र किया यानी वापस अपना धर्म स्वीकार किया तो उसको भारी यातना दो .सूरा अन नहल -16 :106 15 - जो मुहम्मद का आदर न करे उसे भारी यातना दो "जो अल्लाह के रसूल की बात न माने ,उसका आदर न करे,उसको अपमानजनक यातनाएं दो .सूरा अल अहजाब -33 :57
Ashutosh singh Chauhan
Ashutosh singh Chauhan 2 महीने पहले
16 -मुसलमान अल्लाह के खरीदे हुए हत्यारे हैं . "अल्लाह ने ईमान वालों के प्राण खरीद रखे हैं ,इसलिए वह लड़ाई में क़त्ल करते हैं और क़त्ल होते हैं .अल्लाह ने उनके लिए जन्नत में पक्का वादा किया है .अल्लाह के अलावा कौन है जो ऐसा वादा कर सके .सूरा अत तौबा -9 :111 17 -जो अल्लाह के लिए युद्ध नहीं करेगा ,जहन्नम में जाएगा . "अल्लाह की राह में युद्ध से रोकना रक्तपात से बढ़कर अपराध है.जो युद्ध से रोकेंगे वह वह जहन्नम में पड़ने वाले हैं और वे उसमे सदैव के लिए रहेंगे .सूरा अल बकरा -2 :217 18 -जो अल्लाह की राह में हिजरत न करे उसे क़त्ल करदो जो अल्लाह कि राह में हिजरत न करे और फिर जाए ,तो उसे जहां पाओ ,पकड़ो ,और क़त्ल कर दो .सूरा अन निसा -4 :89 19 -अपनी औरतों को पीटो. "अगर तुम्हारी औरतें नहीं मानें तो पहले उनको बिस्तर पर छोड़ दो ,फिर उनको पीटो ,और मारो सूरा अन निसा - 4 :34 20 -काफिरों के साथ चाल चलो . "मैं एक चाल चल रहा हूँ तुम काफिरों को कुछ देर के लिए छूट देदो .ताकि वह धोखे में रहें अत ता.सूरा रिक -86 :16 ,17 21 -अधेड़ औरतें अपने कपडे उतार कर रहें . "जो औरतें अपनी जवानी के दिन गुजार चुकी हैं और जब उनकी शादी की कोई आशा नहीं हो ,तो अगर वह अपने कपडे उतार कर रख दें तो इसके लिए उन पर कोई गुनाह नहीं होगा .सूरा अन नूर -24 :60 "अपनी पत्नियों के अलावा उन लौंडियों के साथ ,जो उनके कब्जे में हों ,सहवास करना निंदनीय नहीं है "सूरा -अल मोमिनून 23:6 "हमने तुम्हारी लौंडियाँ हलाल कर दी हैं ,जो अल्लाह ने तुम्हें माले गनीमत में दी हैं " सूरा -अहजाब 33:50 "पत्नियों के सिवाय तुम्हारे लिए तुम्हारी लौंडियाँ भी हलाल हैं ,अल्लाह सब चीज की खबर रखने वाला है " सूरा -अह्जाब 33:52 इस्लामी परिभाषा में हर प्रकार से हथियाई गयी , पकड़ी गयी , अगवा की गयी हो या खरीदी हुई सभी के लिए अरबी में एक ही शब्द "السرية " है .और ऐसी औरत की इच्छा के विरुद्ध सम्भोग करना इस्लाम में अपराध नहीं माना जाता है . लेकिन मुहम्मद ने ऐसे सहवास को बलात्कार नहीं कहते हुए अरबी में "मलिकत ईमानुकुम ملكت ايمانكم" और " मलिकत यमीनुकुम ملكت يمينكم" शब्द का प्रयोग किया है .और पकड़ी गयी औरत को रखैली माना है .जिनके साथ बलपूर्वक सहवास करना मुसलमानों का अधिकार है .देखिये विडिओ
Omprakash Soni
Omprakash Soni 2 महीने पहले
This is true islam.....
Kin Sum
Kin Sum 2 महीने पहले
Islami is the best and religon😍❣✌
Sharif Ahmad
Sharif Ahmad 2 महीने पहले
Sabse pehle hm BHARTIYA HAI or ham sab ko garv hai.. Jo hmare bhaichare ko khatam krna or hmme ladayi krwana chahta hai wo sirf or sirf shaitan hai.. JAI HIND JAI JAWAN JAI KISAN
swapnil kothekat
swapnil kothekat 3 महीने पहले
iska matalab....islam ke dharm pracharko ne hi islam bigad diya..nahi to atankwadi aayate padh padh kr logonke gale n chirte ....
Mohammad Zeya Ahmad
Mohammad Zeya Ahmad 2 महीने पहले
Bilkul ..
Sunraj Singh
Sunraj Singh 3 महीने पहले
Darr se bana he
Yuosf Siddiqui
Yuosf Siddiqui 3 महीने पहले
Koe dharm kharab nahe huta huta hi bjp awor bhagwa dhare
Kuldeep Raina
Kuldeep Raina 3 महीने पहले
Why u have change your real forum namaz in 658bc after 68 year see the forum of namaz it is why because hindu was not ready to convert but force they r prepared for namaz the converted hind was kept geeta sheluks in armpit unfortunately one have fell geeta from that time the namaz forum was changed I prove it if u want
Kuldeep Raina
Kuldeep Raina 3 महीने पहले
Then why devbandee gazawa e hind why Muslim community saying Hinduism is not real religion zakir naik say
Saliqur Rahman
Saliqur Rahman 3 महीने पहले
Allahu akbar
Thanks Bharat
Thanks Bharat 3 महीने पहले
Bahut bdiya
Sheeba Khan
Sheeba Khan 3 महीने पहले
Very good
Mona Ummi
Mona Ummi 3 महीने पहले
yyà
Didar Singh
Didar Singh 3 महीने पहले
सभी सद ग्रंथों को संत रामपाल जी महाराज ने समझ कर आगे समझाया है और इस समस्या का हल बताया है कि हम कैसे उस अल्लाह खुदा को प्राप्त कर सकते हैं और हम फिर से कैसे एक हो सकते हैं वह कौन हैं जिसकी सबको तलाश है अवश्य सुने ईश्वर चैनल पर 8:30 pm
Mustakim Bhai
Mustakim Bhai 2 महीने पहले
Bhohat Badi bat bole ho sahi bat hai bhai👌👌👌
Didar Singh
Didar Singh 3 महीने पहले
मुसलमान भाई कुरान शरीफ को पढ़ते नहीं हैं क्योंकि उनके धर्मगुरुओं ने उनको डरा रखा है कि कुरान शरीफ को सिर्फ पढ़ लेना ही काफी है जबकि कुरान शरीफ को समझना जरूरी है उस पर अमल करने से काम चलेगा इसलिए उसको सही से समझने के लिए अवश्य सुने संत रामपाल जी महाराज के मंगल प्रवचन 7:30 pm साधना चैनल पर
Amilesh Chaturvedi
Amilesh Chaturvedi 2 महीने पहले
झूठ बोलता ये धूर्त, फंडिंग पाता नीच।
Farheen Khanam
Farheen Khanam 3 महीने पहले
India say america ko kyoun dartha hay, America her thariqhay say tayar hay, mazbooth hay, ek bath hay ki souch aur samaj kay qouf say her chiz America tayar kertha hay, Insaan tayar rahetha hay,
MR KHAN
MR KHAN 3 महीने पहले
YA ALLAH HUM SAB KO KURAN PAR SEEKHNE AUR SUNNAT PE CHALNE KI TAUFEEQ DE....AAMEEN
Roshan Vishvkarma
Roshan Vishvkarma 3 महीने पहले
Masud azhar tera bap hai sale
Rashida Begum
Rashida Begum 3 महीने पहले
💖👍
Ashok Kumar
Ashok Kumar 3 महीने पहले
sare dhram granth achhi sikh deta hai
Indian public
Indian public 3 महीने पहले
SHUKRIYA PANDIT JI QURAN KO SAMAJHNE K LIYE👌👌👌👌👌👌👌
Nia Vishwkarma
Nia Vishwkarma 3 महीने पहले
First of all sabi muslim ko "Quran self padna chahiye. Bahoto ne to bs jo bachpan me pada diya wahi sun k yadd hoga. But jab aap hud padoge tab pata chalega ki Kya likha hai... Main bi padh rhi hu or mujhe bahot doubt h...... Question hai?
Mo ibrahim Shaik
Mo ibrahim Shaik 3 महीने पहले
Subhan Allah kuraan me hamko yehi sekh deta hai Acharya ji Aapka Bahut Bahut dahnybaad
MOHAMMAD SAJID
MOHAMMAD SAJID 3 महीने पहले
Islam aatankwad nahi hai
ganesan rao
ganesan rao 3 महीने पहले
You are very good boy we know Islam is is very good but we don't want Muslims in Hindu India after partisan. These words are very good in Saudi Arabia and pakissthan .Go to Kashmir preach Kashmir Muslims what the good things so they will not throw Hindus from kashmir
Waseem Ahmad
Waseem Ahmad 3 महीने पहले
Masha Allah
Waseem Ahmad
Waseem Ahmad 3 महीने पहले
Subhan Allah
Naseer 75
Naseer 75 3 महीने पहले
nah it achcha hy
Queen Reborn
Queen Reborn 3 महीने पहले
Subhanallah kya bat h aj ap ko salut h ap n smjha aor samjhne ki kosis h thanks
Anupranjan Lakara
Anupranjan Lakara 3 महीने पहले
Kisi ko dekhne se najar niche kyu jhhukao apne MN ko control me rakho.buri najar,buri ichha...ect ko kabu me rakho.
Anupranjan Lakara
Anupranjan Lakara 2 महीने पहले
Baat chahe kisi ki ho to nazar kyu jhukana agar kuch galat parinam hota hai to galat jnha se suru hota hai vahi se uska aant kr dena chahiye.
Arsh79 Ara
Arsh79 Ara 2 महीने पहले
Khuda ki bat nahi.insan ki bat kahi apne bahen .aj ka insan behad hadbadi me hai.apradh q hote h ye hame aur apko maloom hai .t
Anupranjan Lakara
Anupranjan Lakara 2 महीने पहले
Itne apradh, rape...islye ki aadmi aatmik rup se kmjor ho chuka hai.buraiyo me leen hai.
Anupranjan Lakara
Anupranjan Lakara 2 महीने पहले
Aapke liye purane jmane ki baat pr khuda ki drishti me nhi.
Arsh79 Ara
Arsh79 Ara 2 महीने पहले
Nazar niche ker lo kissa hi khatm.control hi hota to itne apradh q hote.q rape hote. Control purane zmane ki bat ho gai.
Manjar Ali
Manjar Ali 3 महीने पहले
Masallah
Salamat Ali
Salamat Ali 3 महीने पहले
Salamat
Amjad Shaikh
Amjad Shaikh 3 महीने पहले
masha allah
mudassir reza mudassir
mudassir reza mudassir 3 महीने पहले
Islam sachche dharam hai
Newton singh
Newton singh 3 महीने पहले
Ye bhosdiwala tharki... Apne book ki publicity karne ke lia Muslim Bann gaya.... Gandu saala
Mohd Imran
Mohd Imran 3 महीने पहले
Nice baat
jantapest control
jantapest control 3 महीने पहले
સુભાન અલ્લાહ
jantapest control
jantapest control 3 महीने पहले
બહોત બડીયા
Uday Singha
Uday Singha 3 महीने पहले
EBRAHAM KA MOTLOB BROMHA HI A. TO GALAT Q BANAEGA KORAN BED GITA BAIBEL OR SARE BANANE BALA SERF BROMHA HI HE .TO AP LOG Q KISI MASUD AZHAR KA BATO MAIN AKE MANOB BOMA BANKO ACHHA LOGOKA MARTE HAI .AP KO THORA SA BUDHI NEHI HAIN KI AISA KORNE SE HAM JANNAT NEHI JAINGE BOLKI NOROK JAINGE.
Uday Singha
Uday Singha 3 महीने पहले
SIRTI KORTA BROHMA KA BANAYA HUA A HINDU MUSLIM SARE DHARM BANAYA HAIN TO A MOULOBI Q GALAT SIKHA DETE HAIN MADRASA ME TO A MUSUL MAN Q NEHI SOCHTE A MOULOBI HAME GALAT BOLTE HAI .A MOULO BI HINDU MUSUL BHAI BHAI NEHI HONE DETA .Q KI MUSAL MAN MOULO BI KO KHUDA MANTE HAI . AP LOG MADRASA JANA CHOR DEGI A PHIR DEKHO APKA MON MAIN HINDU O KA KHILAP AI SA NEHI BOLEGE . JOB AP KO KOI MOULO BI APKO GALAT SIKHA DETIHAIN .HINDU O KA NAM POR BHORKA TA HAIN .ESI LYA TOM LOG ATANKBADI HOTE HO .KISIKO MARKE JANNAT NEHI MILTA KESI KO MODOT KORNESE JANNAT MILTA HAIN .E AP LOGO KO Q NEHI PATA .
Ashed Khan
Ashed Khan 3 महीने पहले
Masahallah 😊
Md Raj
Md Raj 3 महीने पहले
Wow so sweet
Brahmanand Sharma
Brahmanand Sharma 3 महीने पहले
पंडित जी एक बात और जम्मू कश्मीर में 600000 हिंदू पंडित शरणार्थी बने हुए हैं वह किस वजह से बने जा रही है अभी बताइए
Akhand Bharat
Akhand Bharat 3 महीने पहले
Ye problem sarkaron ki banai hui hai... sarkar jab pure k pure gaon ki hatya kar sakti hai to accha kam bhi kar sakti ha... sarkarey chahe to thik ho sakta ha... quran me kahi nahi likh ki kisi ko problem do... iska quran se koi lena dena nahi... pado to jano...
Brahmanand Sharma
Brahmanand Sharma 3 महीने पहले
और पंडित जी एक बात और बताइए यह विदेशी आकर मुस्लिम लोग हमारे पूरे हिंदुस्तान के मंदिरों को तोड़ के रख दिया है जब आप हमारे धर्म का सम्मान नहीं करेंगे तो आप हमसे यह उम्मीद कैसे रख सकते हैं कि हम भी आपके धर्म का सम्मान करें माफ करिए पंडित जी आपकी बातें बहुत ही बेकार समझ में आ रही है
Shiekh Shakeel
Shiekh Shakeel 3 महीने पहले
History khud se padhiye Achhe se, suni sunayi baat na maane,
Brahmanand Sharma
Brahmanand Sharma 3 महीने पहले
पंडित जी बहुत ज्ञानी हैं आप लेकिन आपकी बात बिल्कुल भी समझ से परे है अगर ऐसा ही होता तो मोहम्मद गजनवी मोहम्मद गौरी कम आयु अकबर इन सब लोगों ने क्यों हिंदुस्तान के हिंदुओं के सर कलम किए जितने भी लोग थे इतने हिंदुओं के बड़ी तादाद पर सर कलम किए 1947 में देश आजाद हुआ तो पाकिस्तान से ट्रेन लाशों के ढेर में आई हुई है भर भर के वह सब क्या था जरा इसका भी क्लियर कर दें तो बेहतर होगा
ali zaid
ali zaid 3 महीने पहले
Bhai history to bdalkr btaya jata h... Hota kuch aur h...neta logo ne poori history politics ke lye bdal diye h
अगला
Hindu Sister ko JAWAB
36:29
दृश्य 10 000 000
Get Ready With Us ft. Cierra Ramirez!
15:27
I Went To Prom For The First Time
14:36
दृश्य 664 347